लॉकडाउन के दौरान कितने मजदूरों की हुई मौत? केंद्र सरकार ने कहा- जानकारी…

आपको बता दें कि कोरोना महामारी के कारण कई चीजें सदन में बदल गई हैं और विपक्ष इस बार लिखित तरीके से सवाल पूछे जा रही है

सोमवार से शुरू हुए संसद के मानसून सत्र में सरकार को विपक्ष तीखे सवालों का सामना करना पड़ रहा है. आपको बता दें कि कोरोना महामारी के कारण कई चीजें सदन में बदल गई हैं और विपक्ष इस बार लिखित तरीके से सवाल पूछे जा रहे है। जिसके बाद सरकार को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.

Parliament

आपको बता दें कि सोमवार को विपक्ष ने कोरोना के दौरान हुए लॉकडाउन के बीच प्रवासी मजदूरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था और विपक्ष के कुछ सांसदों ने इस बीच हुई प्रवासी मजदूरों की मौत के आंकड़े की जानकारी मांगी, जिसपर सरकार ने कहा कि उनके पास ऐसा डाटा नहीं है।

वहीँ इसके साथ ही विपक्ष ने सवाल पूछा कि क्या सरकार प्रवासी मजदूरों के आंकड़े को पहचानने में गलती कर गई, क्या सरकार के पास ऐसा आंकड़ा है कि लॉकडाउन के दौरान कितने मजदूरों की मौत हुई है क्योंकि हजारों मजदूरों के मरने की बात सामने आई है। इसके अलावा सवाल पूछा गया कि क्या सरकार ने सभी राशनकार्ड धारकों को मुफ्त में राशन दिया है, अगर हां तो उसकी जानकारी दें। इसके अलावा लिखित सवाल में कोरोना संकट के दौरान सरकार द्वारा उठाए गए अन्य कदमों की जानकारी मांगी गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *