Kartik Purnima कल, इस विधि से करें पूजा, जानें चंद्र ग्रहण का क्या पड़ेगा प्रभाव

19 नवंबर दिन शुक्रवार धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है। इस दिन कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा (Kartik Purnima) तिथि है। इस दिन तुलसी पूजा...

19 नवंबर दिन शुक्रवार धार्मिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है। इस दिन कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा (Kartik Purnima) तिथि है। इस दिन तुलसी पूजा और देव दिवाली के साथ ही चंद्र ग्रहण भी है। कार्तिक पूर्णिमा को त्रिपुरारी पूर्णिमा भी कहते हैं।

Kartik Purnima

चंद्र ग्रहण 2021 (Kartik Purnima)

इस साल कार्तिक पूर्णिमा के ही दिन चंद्र ग्रहण भी लग रहा है। इस चंद्र ग्रहण को सदी का सबसे बड़ा आंशिक चंद्र ग्रहण कहा जा रहा है। आंशिक चंद्र ग्रहण को उपछाया ग्रहण भी कहते हैं। हिन्दू पंचांग के अनुसार आंशिक चंद्र ग्रहण में सूतक नियमों का पालन नहीं किया जाता है। सूतक नियमों का पालन पूर्ण ग्रहण की स्थिति में किया जाता है।

चंद्र ग्रहण का कार्तिक पूर्णिमा (Kartik Purnima) पूजा पर प्रभाव

ज्योतिष शास्त्र में इस साल के आखिरी चंद्र ग्रहण की घटना को विशेष माना जा रहा है। कहा जा रहा है कि इस ग्रहण का असर धार्मिक कार्यों पर पडे़गा क्योंकि ये चंद्र ग्रहण पूर्ण नहीं है। इसके साथ ही ये चंद्र ग्रहण दिन में लग रहा है और इसका प्रभाव भी भारत पर नहीं पड़ रहा है। ये ग्रहण भारत में असम, अरुणाचल प्रदेश आदि क्षेत्रों में ही दिखाई देने की बात कही जा रही है। (Kartik Purnima)

Health Care Tips: कब्ज से परेशान हैं तो दूध में ये खास चीज मिलाकर पियें, जल्द मिलेगा आराम

जम्मू-कश्मीर में सेना का खतरनाक ऑपरेशन, मुठभेड़ों में मार गिराए इतने आतंकवादी

Dancer Sapna Chaudhary के खिलाफ जारी हुआ गिरफ्तारी का वारंट

Dev Diwali 2021: देव दीपावली आज, ये है पूजा का शुभ मुहूर्त और विधि

ये पाकिस्तानी वेब सीरीज ZEE5 जिंदगी पर होगी रिलीज, ट्रेलर पहले ही मचा रहा धमाल

वानखेड़े ने पहली पत्नी को चुप कराने के लिए इनको ड्रग केस में फंसाया, इस नेता ने लगाया आरोप

Bollywood News: 46 साल की उम्र में प्रति जिंटा बनीं दो बच्चों की मां, फोटो शेयर कर बताये नाम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *