जानिए क्यों स्वीडन की पहली महिला प्रधानमंत्री ने नियुक्ति के चंद घंटे बाद दिया इस्तीफा

ग्रीन पार्टी ने अपना समर्थन वापस ले लिया, जिसके कारण उन्हें ये फैसला लेना पड़ा

स्वीडन की सोशल डेमोक्रेट नेता मैग्डेलेना एंडरसन को संसद द्वारा स्वीडन की पहली महिला पीएम के रूप में चुना गया था, मगर उन्हें चयन के फौरन बाद इस्तीफा (Resignation) देना पड़ा।

Sweden's first female prime minister

दरअसल ग्रीन पार्टी ने अपना समर्थन वापस ले लिया, जिसके कारण उन्हें ये फैसला लेना पड़ा। बीते कल को पीएम चुने जाने के कुछ ही घंटों पश्चात, संसद (रिक्सडैग) ने विपक्ष के बजट प्रस्ताव को पारित कर दिया, जिससे एंडरसन के गठबंधन सहयोगी ग्रीन पार्टी ने अपना समर्थन वापस ले लिया।

तत्पश्चात एंडरसन को अपने इस्तीफे की घोषणा करने के लिए मजबूर होना पड़ा। पीएम चुने जाने के लिए, उन्हें 349 सीटों वाले रिक्सडैग में उन्हें अधिकांश सांसदों की आवश्यकता थी। उन्हें 117 का समर्थन हासिल था, किंतु 174 उनके विरोधी थे, जिसमें 57 प्रतिनिधि अनुपस्थित थे। एक डिप्टी अनुपस्थित था।

महिला नेता का इलेक्शन वामपंथी पार्टी के साथ 11 घंटे के समझौते के बाद हुआ था, जिसने सबसे गरीब सात लाख पेंशनभोगियों के लिए पेंशन में वृद्धि की मांग की। महिला नेता ने कहा कि वह विपक्ष के बजट के साथ देश का नेतृत्व कर सकती हैं, इसे केवल मामूली बदलावों की जरूरत है। हालांकि, ग्रीन पार्टी की राय अलग थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *