पाकिस्तान में प्रदर्शन कर रहे किसानों पर लाठीचार्ज, 15 किसान गायब

कुछ किसानों की शनिवार को रिहाई भी की गई है।

पाकिस्तान के पंजाब के मुल्तान रोड पर अपने हकों के लिए प्रदर्शन कर रहे 15 किसान पिछले सप्ताह से गायब हैं जब पुलिस ने लाठीचार्ज करने के बाद ढाई सौ किसानों को गिरफ्तार किया था।
farmer
पिछले हफ्ते बुधवार को प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पुलिस ने लाठीचार्ज, वॉटर कैनन और टियर गैस का इस्तेमाल किया था जिसके बाद काफी किसानों को तुरंत इलाज के लिए अज्ञात जगहों पर ले जाया गया। इन किसानों को पिछले 3 दिनों से निजी स्थानों पर रखा गया है। कुछ किसानों की शनिवार को रिहाई भी की गई है।
पाकिस्तान किसान ईत्तेहाद (पीकेआई) के एक अंग के अध्यक्ष मल्क जुल्फिकार आवान ने कहा कि अभी हम लोग शहीद नेता मालिक अशफाक का कुल मना रहे हैं। उसके बाद हम पीकेआई के जिला अध्यक्षों की मीटिंग करके अगले चरण के विरोध की घोषणा करेंगे। यह हमारे हकों की लड़ाई है और हम इसे अंतिम सांस तक लड़ेंगे।
प्रदर्शनकारियों पर पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज की निंदा करते हुए पीकेआई के चेयरमैन मोहम्मद अनवर ने कहा कि हम अपने हकों के लिए लड़ रहे हैं। हमारा बस यही कहना है कि हमारी मुलाकात पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बज़्दार या प्रधानमंत्री इमरान खान से करवाई जाए ताकि हम अपनी मांग उनको समझा सके। हम लोग अभी तक नहीं समझ पाए कि क्यों पुलिस को इस तरह के आदेश दिए गए।

पंजाब सरकार और फेडरल सरकार को यह अच्छी तरह समझ जाना चाहिए कि अधिकारों के लिए किए गए प्रदर्शन पुलिस बल के द्वारा कभी भी दबाये या खत्म नहीं किए जा सकते। पीकेआई सभी जिला अध्यक्षों की जल्द ही मीटिंग करने वाली है ताकि प्रदर्शन का दूसरा चरण शुरू किया जा सके।

किसान रबिता कमेटी के जनरल सेक्रेटरी फारुख तारीख ने कहा कि सरकार ने किसान को मारा है फिर भी वह किसान की बातों को नहीं सुन रही है। मैं 3 जिलों के किसानों की मीटिंग में होकर आया हूं और मैंने किसानों के अंदर बहुत गुस्सा देखा है। सरकार को हमारी 4 मांगो जिसमें गेहूं के दाम, किसान नेता की हत्या, गायब हुए किसानों की रिहाई और पुलिस अत्याचारों के पीछे कारण, जितनी जल्दी हो हल करना होगा नहीं तो किसान फिर से और गुस्से और दृढ़ निश्चय के साथ सड़क पर होंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *