परिवार पर टूटा दुःखों का पहाड़, यहां हुई किसान की मौत, मचा बवाल

फतेहाबाद में आवारा पशुओं द्वारा 6 बीघा भूमि पर गेहूं की फसल को पूरी तरह से नष्ट कर देने से सदमे में आकर एक किसान का हॉर्ट अटैक पड़ने से निधन हो गया

उत्तर प्रदेश॥ फतेहाबाद में आवारा पशुओं द्वारा 6 बीघा भूमि पर गेहूं की फसल को पूरी तरह से नष्ट कर देने से सदमे में आकर एक किसान का हॉर्ट अटैक पड़ने से निधन हो गया। बढोरा के 51 वर्षीय नारायण सिंह ने कथित तौर पर 90,000 रुपये उधार लिए थे और कर्ज चुकाने के लिए अपनी फसल पर निर्भर थे। उनके परिवार में 2 कुवारी बेटियों सहित तीन छोटे बच्चे हैं। उनके परिवार के सदस्यों के अनुसार, सिंह आवारा पशुओं से फसल की रक्षा के लिए अक्सर खेतों में अपना वक्त बिता रहे थे।

Agriculture

सोमवार की शाम, वह डिनर के लिए घर आए और जब तक वह वापस गए, तब तक उनकी पूरी फसल 50 एकड़ से अधिक आवारा पशुओं ने नष्ट कर दी। परिवार के सदस्य ने कहा कि नारायण इस सदमे को सहन नहीं कर सके और दिल का दौरा पड़ा।” उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

मृतक के एक रिश्तेदार भूरी सिंह ने बताया कि नारायण सिंह गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहे थे। वह तकरीबन 90 हजार रुपये के कर्ज में थे। पत्नी और तीन बच्चों सहित पांच सदस्यीय परिवार सभी उन पर निर्भर थे। वह आवारा पशुओं के कारण हुए फसल नुकसान को सहन नहीं कर पा रहे थे और कॉर्डिएक अरेस्ट से उनकी मृत्यु हो गई। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से परिवार को आर्थिक मदद देने की अपील की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *