मंत्री पद मिलते ही एक्शन में नये रेल मंत्री, बदल दी स्टाफ की टाइमिंग, अब ऐसे होगा कार्य

कार्यभार संभालने के बाद नए मंत्री ने कहा था कि रेलवे पीएम मोदी के विजन का अहम हिस्सा है और वह इस विजन को हकीकत में बदलने के लिए काम करेंगे

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में नए रेल मंत्री के रूप में कार्यभार संभालने के कुछ घंटों बाद, अश्विनी वैष्णव ने अपने कार्यालय में अधिकारियों और कर्मचारियों को दो पारियों में काम करने का आदेश दिया।

ashwini vaishnav

पहली पाली सुबह 7 बजे शुरू होगी और शाम 4 बजे समाप्त होगी, जबकि दूसरी पाली दोपहर 3 बजे शुरू होगी और मध्यरात्रि में 12 बजे समाप्त होगी, गुरुवार को उनके कार्यालय के एक आदेश में कहा गया है।

रेल मंत्रालय के एडीजी पीआर डीजे नारायण के मुताबिक ये आदेश सिर्फ एमआर सेल (मंत्री कार्यालय) के लिए जारी किया गया है न कि प्राइवेट या रेलवे स्टाफ के लिए।

नारायण ने कहा, “रेल मंत्री ने निर्देश दिया है कि मंत्री कार्यालय के सभी कार्यालय और कर्मचारी तत्काल प्रभाव से दो पालियों यानी 7:00 बजे से 16:00 बजे और 15:00 बजे -12:00 बजे काम करेंगे।”

उन्होंने कहा कि ये केवल एमआर सेल में अधिकारियों के लिए है जैसा कि नोट में लिखा है और इसका मतलब है- “सोने से पहले मीलों जाना है..! मिशन मोड पर रेलवे के लिए बहुत कुछ किया जाना है और हर मिनट मायने रखता है। एमआर सेल मतलब मंत्री का कार्यालय, निजी नहीं, रेलवे कर्मचारी।

कार्यभार संभालने के बाद नए मंत्री ने कहा था कि रेलवे पीएम मोदी के विजन का अहम हिस्सा है और वह इस विजन को हकीकत में बदलने के लिए काम करेंगे।

वैष्णव ने कहा कि रेलवे के लिए उनका (पीएम मोदी का) विजन लोगों के जीवन को बदलना है, ताकि सभी – आम आदमी, किसान, गरीब – को रेलवे का लाभ मिले। मैं उस विजन के लिए काम करूंगा।

आपको बता दें कि एक पूर्व आईएएस अधिकारी वैष्णव को रेल मंत्री, संचार मंत्री और इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री नियुक्त किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *