साइंटिस्टों को सता रहा प्रलय का डर, पहले जैसी नहीं रहेगी पृथ्वी, जानें वैज्ञानिकों ने ऐसा क्यों कहा

चांद के दूर जाने से हमारी धरती पर प्रलय (कयामत) आ जाएगा

साइंटिस्टों का मानना है कि आने वाले वक्त में एक दिन धरती अस्थिर हो सकती है क्योंकि चांद हमारी पृथ्वी से धीरे-धीरे दूर जा रहा है। चांद के 4.5 बिलियन वर्षों की लाइफ में ये धीरे-धीरे जा रहा है। हालांकि ये बातें शुरुआत से ही किए जा रहे हैं किंतु अब बताया जा रहा है कि एक दिन चंदा मामा हमें पूरी तरह से छोड़कर जा सकते हैं। यदि ऐसा होता है तो इसका बहुत बुरा प्रभाव धरती पर पड़ेगा।

space

साइंस की एक जानमानी पत्रिका के अनुसार चांद के दूर जाने से हमारी धरती पर प्रलय (कयामत) आ जाएगा। धरती और चंद्रमा के बीच गुरुत्वाकर्षण संबंध के प्रभावित होने का प्रभाव समुद्र, सूर्य, स्तनधारियों, पेड़-पौधों के जीवन तथा बहुत सी चीजों पर पड़ेगा। पत्रिका की रिपोर्ट में इसकी सूचना दी गई है। फिलहाल चंद्रमा धरती से 384,400 किमी की दूरी पर मौजूद है।

कुछ ने किया करीब आने का दावा

स्पेस यात्री इस दूरी को धरती से चंद्रमा पर लेजर फायर कर मापते हैं। लेजर के वापस धरती पर लौटने के वक्त की गणना कर दोनों के मध्य दूरी का अंदाजा लगाया जा सकता है। कुछ वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि वक्त के साथ चंद्रमा धरती के करीब आ सकता है। जिसके परिणामस्वरूप गुरुत्वाकर्षण इसे पूरी तरह से नष्ट कर देगा और धरती पर प्रलय आ जाएगा। धरती के चारों ओर एक पॉवरफुल चुंबकीय क्षेत्र है जो प्लेनेट के मूल में मौजूद तरल लोहे के घूमने से बना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *