कई शहरों में लॉकडाउन के बीच कोरोना पर बहुत बुरी खबर, इन 3 प्रदेशों में॰॰॰

देश के 3 प्रदेशों- महाराष्‍ट्र, तेलंगाना और केरल से कोरोना महामारी के दो नए स्‍ट्रेन मिले हैं। हालांकि मोदी सरकार के मुताबिक अभी तक ऐसे सबूत नहीं हैं कि महाराष्‍ट्र तथा केरल में मामले बढ़ने के पीछे यही स्‍ट्रेन जिम्‍मेदार हैं।

देश के 3 प्रदेशों- महाराष्‍ट्र, तेलंगाना और केरल से कोरोना महामारी के दो नए स्‍ट्रेन मिले हैं। हालांकि मोदी सरकार के मुताबिक अभी तक ऐसे सबूत नहीं हैं कि महाराष्‍ट्र तथा केरल में मामले बढ़ने के पीछे यही स्‍ट्रेन जिम्‍मेदार हैं। 2 इन वैरियंट्स के नाम N440K और E484K हैं। E484K ऐसा म्‍यूटेशन है जो जिस्म के इम्‍युन रेस्‍पांस से बच जाता है जबकि N440K तेजी से इंसानी रिसेप्‍टर्स से जुड़ता है यानी अधिक तेजी से फैलता है।

Lockdown

राष्ट्र में कोरोना के मामलों में फिर से उछाल देखने को मिल रहा है। मंगलवार को निरंतर नौवां दिन रहा जब केसेज बढ़े। कोविड से मौतों की संख्‍या भी तीन दिन 100 से कम रहने के बाद, मंगलवार को 100 के पार चली गई। आइए जानते हैं कोरोना से जुड़े प्रमुख अपडेट्स।

डेली एवरेज बढ़ा, सबसे अधिक केस महाराष्‍ट्र से

सात दिन के आधार पर प्रतिदिन मामले का एवरेज 14 फरवरी से अबतक 1,800 केसेज से अधिक की बढ़त दिखा रहा है। 14 फरवरी को जहां यह 11,430 था, वहीं मंगलवार को 13,267 हो गया। सितंबर 2020 के बाद डेली केसेज एवरेज में बढ़त का सबसे लंबा सिलसिला नवंबर में देखने केा मिला था जब 19 से 24 नवंबर के बीच, छह दिन तक एवरेज बढ़ा था।

अभी तक के अपडेट के मुताबिक मंगलवार को कम से कम 13,742 नए मामले सामने आए। इनमें तेलंगाना के आंकड़े शामिल नहीं हैं। तेलंगाना ने कहा है कि वह डेली केसेज की संख्‍या नहीं जारी करेगा। सबसे अधिक मामले महाराष्‍ट्र से आए जहां 6,218 नए मामले दर्ज हुए। केरल दूसरे नंबर पर बरकरार रहा जहां से 4,034 नए मामले सामने आए। इन दो राज्‍यों को मिला दें तो देश के 75 फीसदी से अधिक कोरोना केस यहीं से आए।

मामले में इजाफे पर जालना में स्‍कूल-कॉलेज और रात्रि मार्केट बंद कर दिए गए हैं। वहीं, अमरावती में हफ्ते भर का लॉकडाउन सोमवार को रात आठ बजे से शुरू हो गया और एक मार्च को सुबह आठ बजे तक लागू रहेगा। विदर्भ में अकोला मंडल में सबसे अधिक 1392 मामले सामने आए जबकि मुंबई मंडल में 1250 मामलों की पुष्टि हुई है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *