WHO ने जो आरोप लगाया था अब चीन ने उसको स्वीकारा, मचा गया दुनिया में बवाल

डब्ल्यूएचओ निदेशक ने कहा- चीन ने छिपाए शुरुआती आंकड़े, कोरोना उत्पत्ति को लेकर घमासान

WHO के निदेशक टेड्रोस अदनोम घेवरेसर्स ने चीन पर कोरोना वायरस के प्रारंभिक आंकड़ों को जांच दल से छिपाने का आरोप लगाया है। इधर, चीन ने इस आरोप को गलत बताते हुए कहा कि सभी आंकड़े जांच दल को सौंप दिए गए हैं। इसके साथ चीन में कोरोना की उत्पत्ति को लेकर WHO और चीन आमने-सामने आ गए हैं।

who report

WHO की टीम ने मंगलवार को जांच रिपोर्ट जारी कर कोरोना वायरस की उत्पत्ति पर कहा है कि वायरस चमगादड़ से जानवरों के जरिये इंसानों में फैलने की आशंका है। लैब से वायरस लीक होने के सुबूत नहीं मिले हैं, लेकिन WHO के निदेशक टेड्रोस ने सीधे तौर पर चीन द्वारा आकड़ों को छिपाने की बात स्वीकार की है।

उन्होंने कहा कि जांच दल के सदस्यों से उनकी बात हुई तो उनका कहना था कि आंकड़ों को इकट्ठा करने में परेशानी हुई। उनको प्रारंभिक आंकड़ों तक पहुंचने से रोका गया। उन्होंने उम्मीद जताई कि भविष्य में सहयोग के साथ सभी डाटा उपलब्ध कराया जाएगा।

आपको बता दें कि जनवरी-फरवरी में WHO की जांच टीम चार सप्ताह तक वुहान में थी। इधर, जांच दल से समन्वय करने वाले चीन के लियांग वानियन ने कहा कि दल को आंकड़े न दिए जाने के आरोप निराधार हैं। चीन ने अपने सभी आंकड़े सौंप दिए हैं। अब आगे की जांच करने के लिए अन्य देशों में पड़ताल की जानी चाहिए।

WHO की टीम ने मंगलवार को जांच रिपोर्ट जारी कर कोरोना वायरस की उत्पत्ति पर कहा है कि वायरस चमगादड़ से जानवरों के जरिये इंसानों में फैलने की आशंका है। लैब से वायरस लीक होने के सुबूत नहीं मिले हैं, लेकिन WHO के निदेशक टेड्रोस ने सीधे तौर पर चीन द्वारा आकड़ों को छिपाने की बात स्वीकार की है।

उन्होंने कहा कि जांच दल के सदस्यों से उनकी बात हुई तो उनका कहना था कि आंकड़ों को इकट्ठा करने में परेशानी हुई। उनको प्रारंभिक आंकड़ों तक पहुंचने से रोका गया। उन्होंने उम्मीद जताई कि भविष्य में सहयोग के साथ सभी डाटा उपलब्ध कराया जाएगा।

आपको बता दें कि जनवरी-फरवरी में WHO की जांच टीम चार सप्ताह तक वुहान में थी। इधर, जांच दल से समन्वय करने वाले चीन के लियांग वानियन ने कहा कि दल को आंकड़े न दिए जाने के आरोप निराधार हैं। चीन ने अपने सभी आंकड़े सौंप दिए हैं। अब आगे की जांच करने के लिए अन्य देशों में पड़ताल की जानी चाहिए।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *