5AC423FB902F99F7B04A6C0E44CE75FA
Breaking News

शिवपाल यादव और राजा भैया की निगाह इन बड़े नेताओं पर, पार्टी में शामिल कराने को लेकर खींच-तान जारी

उत्तर प्रदेश ।। कुंडा विधायक राजा भैया ने अपनी पार्टी को खड़ा करने के लिए सारी ताकत लगा रहे हैं। नयी पार्टी का ऐलान करने के साथ ही कई नेताओं को शामिल करने की योजना है। इन नेताओं की सूची बन चुकी है।

राजा भैया के करीबी व सपा नेता पर भी सबकी निगाहे लगी हुई है। सपा का क्षत्रिय बाहुबली राजा भैया के साथ गये तो चुनावी समीकरण बदल सकता है। शिवपाल यादव भी अपने मोर्चा को मजबूत करने में जुट गये हैं। दोनों ही नेताओं में अब दूसरे दल के नेताओं को अपने पाले में लाने की होड़ मचने वाली है।

पढ़िए- शिवपाल ने भतीजे अखिलेश यादव को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- मैं तो अखिलेश को…

बस्ती संसदीय सीट के हरैया से तीन बार विधायक रहे राजकिशोर सिंह को राजा भैया व शिवपाल यादव दोनों का ही खास माना जाता है। पूर्व विधायक राजकिशोर सिंह का नाम उस समय अधिक चर्चा में आया था जब मुलायम परिवार में शिवपाल यादव व अखिलेश में हुए विवाद के बाद तीन नेताओं से मंत्री पद छीन लिया गया था।

इनमे बलराम यादव, गायत्री प्रजापति व राजकिशोर सिंह शामिल थे। मुलायम सिंह यादव ने हस्तक्षेप करके बलराम यादव व गायत्री प्रजापति को पद देने का निर्देश दिया था लेकिन राजकिशोर सिंह को साइड लाइन किया गया था। इसी समय से राजकिशोर सिंह का नाम चर्चा में आया था।

पढ़िए- अखिलेश यादव ने किया बड़ा एलान, न बसपा, न कांग्रेस बल्कि इस पार्टी के साथ चुनाव लड़गी सपा

माना जाता है कि शिवपाल यादव व राजा भैया का खास होने के चलते राजकिशोर सिंह की बात नहीं सुनी गयी। राजकिशोर सिंह पहली बार मायावती की पार्टी बसपा से विधायक हुए थे बाद में बसपा छोड़ कर सपा में चले गये थे और सपा से दो बार विधायक बन कर अपनी ताकत दिखायी थी।

राजकिशोर सिंह को यूपी चुनाव 2017में हार मिली थी। पीएम नरेन्द्र मोदी की लहर में बीजेपी को रिकॉर्ड तोड़ सीट मिली थी जिसके चलते बाहुबली राजकिशोर सिंह को चुनाव हराना पड़ा था। उसके बाद से राजकिशोर सिंह की अधिक सक्रियता नहीं दिख रही है। कुछ दिन पहले सपा के लिए कार्यकर्ताओं का सम्मेलन कराया था।

अखिलेश यादव, मायावती व राहुल गांधी का महागठबंधन होता है तो लोकसभा चुनाव 2019 में कई दिग्गज नेता के टिकट कट भी सकते हैं। ऐसे में सभी की निगाहे अब राजकिशोर सिंह पर टिक गयी है।

पूर्व विधायक राजकिशोर सिंह को राजा भैया व शिवपाल यादव का खास माना जाता है। सपा के पूर्व विधायक ने अभी पाला बदलने की बात नहीं कही है लेकिन राजा भैया व शिवपाल यादव दोनों ही चाहते हैं कि राजकिशोर सिंह जैसा नेता उनके पास आ जाये। यदि ऐसा होता है तो बस्ती लोकसभा सीट से टिकट भी दिया जा सकता है।

राजा भैया व शिवपाल यादव ने क्षेत्रीय नेताओं को अपने साथ करके संगठन मजबूत करने की योजना बनायी है। यदि किसी नये नेता को शामिल किया जाता है तो वह बीजेपी व महागठबंधन की लड़ाई में टिक नहीं पायेगा। ऐसे हालात में राजकिशोर सिंह नेता बड़े काम आ सकते हैं जिनका अपना जनाधार होता है। अब देखना है कि राजकिशोर सिंह सपा में ही रहते हैं या फिर राजा भैया व शिवपाल यादव में किसी एक को चुनते हैं।

फोटो- फाइल

x

Check Also

शानदार फीचर्स के साथ Oppo A7 हुआ लांच, कीमत आपके बजट में !

टेक डेस्क. स्मार्टफोन निर्माता कंपनी ओप्पो ने Oppo A7 को नेपाल और चीन में लॉन्च ...