100 दिन में एक भी नौकरी नहीं, यही है भाजपा का रामराज, विधान परिषद में उठा मुद्दा

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

लखनऊ।। लखनऊ विधान परिषद में शुक्रवार को बजट पर चर्चा शुरू हुई। नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन ने कहा कि सरकार ‘सबका साथ, सबका विकास’ का ढिंढोरा पीट रही है। हकीकत में यह बजट जनता के साथ धोखा है।

प्रदेश में 55 लाख महिलाओं की पेंशन बंद कर दी। लैपटॉप नहीं बांटे और 100 दिन में एक भी नौकरी नहीं दी। जो भर्तियां चल रही थीं, उन्हें भी रोककर नौकरी छीनने का काम इस सरकार ने किया है।

वहीं, अल्पसंख्यकों के साथ भेदभाव का आरोप भी अहमद हसन ने लगाया। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने 400 करोड़ रुपये का बजट कब्रिस्तान की बाउंड्री के लिए दिया था। छात्रवृत्ति, फीस प्रतिपूर्ति में भी भारी कटौती कर दी।

इस देश की आजादी की लड़ाई सभी धर्मों ने मिलकर लड़ी थी। यह बात अलग है कि तब बीजेपी थी ही नहीं। बजट में इस तरह का भेदभाव पहली बार देखा है। ऐसे तो सबका विकास नहीं हो सकता।

फोटोः फाइल

इसे भी पढ़ें

http://upkiran.org/5321

http://upkiran.org/5296

Related News