Dr Farooq Abdullah-उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती फिर से नजरबंद

जम्मू.कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता Farooq Abdullah और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती को रविवार को उनके घर पर ही नजरबंद कर दिया गया है। 

श्रीनगर। जम्मू.कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला (Dr Farooq Abdullah) और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती को रविवार को उनके घर पर ही नजरबंद कर दिया गया है। उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है। पूर्व सीएम और पीडीपी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती को कल पुलवामा जाने की इजाजत भी नहीं दी गई थी। उमर ने ट्वीट कर कहा कि हमें बिना किसी कारण अपने घरों में नजरबंद कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि उनके पिता एवं सांसद डॉ. फारूक अब्दुल्ला, मेरी बहन और उनके बच्चों को बिना किसी कारण अपने ही घर में नजरबंद कर दिया है।

Farooq Abdullah-Omar Abdullah and Mehbooba Mufti

 

उमर बोले- अगस्त 2019 के बाद ये नया कश्मीर है

उमर ने रविवार को सोशल-मीडिया पर एक पोस्ट शेयर की। इसमें उन्होंने लिखा, “अगस्त 2019 के बाद ये नया कश्मीर है। हमें हमारे घरों में बिना किसी वजह से बंद कर दिया गया है। क्या इतना काफी नहीं था कि उन्होंने मुझे और मेरे पिता को हमारे घरों में बंद किया। अब उन्होंने मेरी बहन और उनके बच्चों को भी घर में बंद कर दिया है। (Dr Farooq Abdullah)

स्टाफ को भी नहीं आने दिया जा रहा

उन्होंने कहा कि चलिए आपका लोकतंत्र का नया मॉडल यही है कि हमें बिना कोई कारण बताए नजरबंद कर दिया जाए, लेकिन घर में काम करने वाले स्टाफ को भी नहीं आने दिया जा रहा है। अब जब मैं गुस्सा होता हूं और तल्खी दिखलाता हूं तो आप आश्चर्य जाहिर करते हैं।’ (Dr Farooq Abdullah)

घरों के बाहर सुरक्षाबल तैनात

वहीं जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर से महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला, फारूक अब्दुल्ला (Dr Farooq Abdullah) सहित उनके परिवार के अन्य सदस्यों के घरों के बाहर सुरक्षाबलों को भी तैनात कर दिया गया है। (Dr Farooq Abdullah)

7 महीने से ज्यादा नजरबंद रहे थे उमर-फारूक (Dr Farooq Abdullah)

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद फारूक और उमर को 5 अगस्त 2019 को नजरबंद कर लिया गया था। उमर पर पीएसए के तहत लोगों को भड़काने का आरोप लगाया गया था। फारूक 13 मार्च और 24 मार्च को रिहा किए गए थे। (Dr Farooq Abdullah)

14 महीने नजरबंद रह चुकी हैं महबूबा

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद महबूबा मुफ्ती को नजरबंद कर लिया गया था। उन्हें पिछले साल 27 नवंबर को रिहा किया गया है। वे 14 महीने तक नजरबंद रहीं। (Dr Farooq Abdullah)

महबूबा मुफ्ती और फारूक अब्दुल्ला पर मोदी सरकार जल्दी कर सकती है बड़ी कार्रवाई, जानें वजह

वैक्सीन पर सियासत : कश्मीर से BJP के धुर विरोधी नेता उमर अब्दुल्ला ने केंद्र सरकार पर जताया भरोसा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *