पाकिस्तान ने कश्मीर के लिए चली ये चाल, इस तरीके से अंतर्राष्ट्रीय मंच पर उठाएगा मुद्दा

पाकिस्तान कश्मीर के मुद्दे पर पीछे हटने को तैयार नहीं है, वो हर बार किसी न किसी तरीके से कश्मीर का मसला अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठाना ही चाहता है. वहीँ अब उसने एक नई चाल से कश्मीर का मसला उठाने की ठानी है. आपको बता दें कि ब्रिटेन की संसद में इस बार कश्मीर और पाकिस्तानी मूल के 15 सांसद चुने गए हैं.

वहीँ अब पाकिस्तान की नजर इन सासंदों की मदद से कश्मीर के मुद्दे को वैश्विक स्तर पर उठाने की है. पाकिस्तान इसे कश्मीर पर एक अवसर के तौर पर देख रहा है. इन सासंदों ने हाल ही में कहा था कि ये कश्मीर के मामले को वैश्विक स्तर पर उठाएंगे. यह आवाज यूके की संसद और संसद के बाहर भी उठाई जाएगी.

गौरतलब है कि कश्मीर मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर उठाने में नाकामी का मुंह देखने वाले पाकिस्तान की नजरें अब ब्रिटेन में नए चुने गए 15 सांसदों पर है. ये सांसद या तो पाकिस्तानी मूल के हैं या फिर कश्मीरी मूल के. वहीं पाकिस्तान माने बैठा है कि ये सांसद कश्मीर को लेकर उसके भारत विरोधी एजेंडे को वैश्विक मंचों पर उठाने के लिए आगे आएंगे.

Tek के यूके चैप्टर के अध्यक्ष राजा फहीम के मुताबिक ये गर्व की बात है कि कि नए चुने गए 15 सांसद या तो पाकिस्तानी या पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) मूल के हैं. वहीं नए चुने गए एक सांसद अफजल खान ने कहा कि ब्रिटेन की संसद में कश्मीर मुद्दा उठाया जाएगा. खान के मुताबिक वो कश्मीर का समाधान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव के मुताबिक ढूंढने पर जोर देंगे. खान की तरह के ही विचार नए चुने गए सांसदों में खालिद मोहम्मद, इमरान हुसैन और यास्मीन कुरैशी ने जताए.

कश्मीर मुद्दे को उठाने की कोशिश करते रहने वाले पाक परस्त संगठन तहरीक-ए-कश्मीर (TeK) ने ब्रिटेन में इन 15 सांसदों की जीत को ‘महान क्षण’ तक करार दे डाला है. आपको बता दें कि ऐसे में पाकिस्तान को लग रहा है कि ब्रिटेन संसद में 15 चुने नए सांसद कश्मीर मुद्दे को उठाएंगे तो वो आवाज़ दुनिया के और कोनों में भी सुनी जाएगी. हक़ीक़त ये है कि पाकिस्तान की इन कोशिशों को दुनिया के और देशों में तो छोड़ अरब देशों में भी समर्थन नहीं मिल पा रहा है.

Big Boss 13: सिद्धार्थ ने रश्मि से आखिरी बार फ़ोन पर की थी ये गंदी बात, करना पड़ा ब्लॉक

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *