Kisan Andolan प्रदर्शन के चलते सरकार को हुआ दो हजार करोड़ रुपए का नुकसान, आठ महीने से नहीं लिया गया॰॰॰

मोदी सरकार के एक सीनियर अफसर ने सूचना देते हुए बताया है कि टोल टैक्स न देने के चलते सरकार को दो हजार करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है

नई दिल्ली॥ दिल्ली से चंडीगढ़ की सफर करते हुए नेशनल हाईवे-44 पर तकरीबन 300 रुपए का टोल टैक्स लगता है, लेकिन किसान आंदोलन (Kisan Andolan) के चलते बीते 8 महीनों से ये टोल टैक्स नहीं वसूला जा रहा है। ऐसे में मोदी सरकार के लिए राजस्व घाटा (Revenue loss) निरंतर बढ़ता जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक मोदी सरकार के एक सीनियर अफसर ने बताया है कि टोल टैक्स न देने के चलते सरकार को दो हजार करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है। पंजाब और हरियाणा में तक़रीबन 50 टोल प्लाजा छह से आठ माह से बंद हैं। हर दिन पांच करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान हो रहा है। केंद्रीय अफसर ने कहा कि एक बार में इतनी भारी तादाद (Kisan Andolan) में टोल प्लाजा बंद होने की यह शायद सबसे लंबी अवधि है।

कृषि कानूनों के विरूद्ध प्रदर्शन कर रहे किसानों (Kisan Andolan) का कहना है कि वह लोगों को चोट नहीं पहुंचा रहे हैं। लोग ईंधन की कीमतें 100 रुपए से अधिक होने पर टोल का भुगतान करने का खर्च बचाने के लिए हमारे आभारी हैं। आवाम में से कोई भी शिकायत नहीं कर रहा है। उनका कहना है कि वो सरकार को आहत कर रहे हैं। केंद्र ने आठ माह से किसानों की मांगों को मंजूर नहीं किया है।

LYING FLAT : चीन में युवाओं ने शुरू किया असहयोग आंदोलन, जिनपिंग सरकार भयभीत
मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट, मध्य प्रदेश-यूपी समेत इन राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी
आमिर खान के तलाक को लेकर एक्ट्रेस कंगना रनौत ने कसा तंज, कहा- एक महिला हिन्दू बनकर॰॰॰
मिशन ‘ग्रीन’ यूपी : युवा स्थापित कर रहे पंचवटी, पंच पल्लव, नक्षत्र और नवग्रह वाटिका
Corona Pandemic के बीच अब आया नया खतरा, ठीक हो चुके मरीजों की गल रही हड्डियां, जानें क्या है वजह
सलमान खान ‘Bigg Boss’ में जमीन पर क्यों लेट जाते हैं, रोहित शेट्टी ने बताया कारण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *